8/10/2008

ब्रश स्ट्रोक्स



एक किताब और एक फिल्म के असर में ..और आने वाले हफ्ते की तैयारी में ऐरियल शॉट की कवायद

8 comments:

अनूप शुक्ल said...

गजनट लेकिन इस खूबसूरत सचित्र पोस्ट का अनुवाद भी तो पेश किया जाये।

पंडिताइन said...

.



দেখতে তো ভালো,
কিংতু এঈটা আছে কি জানলাম না ?
কিছূ বলবেন ?

Nitish Raj said...

this is a top angel...
http://nitishraj30.blogspot.com
http://poemofsoul.blogspot.com

अनुराग said...

आपकी कवायद बेहद हसीन है ढेरो रंग लिए हुए .....

Parul said...

n kariye anuvaad..yun hi sundar hai..

Geet Chaturvedi said...

बहुत दिनों बाद. फोटो के भीतर और फोटो के बाहर की जि़ंदगी लेकर.

शायदा said...

बहुत सुंदर। जैसे सोंधा सा बंसत।

जोशिम said...

हार मान ली - दो दिन सोचने के बाद भी- न तो किताब बूझ रही है न फ़िल्म -[:-)] ??? -