5/06/2008

आभार

इस बेहद कठिन समय में , जब लगता है वक्त रुक गया है , तब , ऐसे में ... आपका .. सबका साथ , स्नेह ,संबल ... सहारा देता रहा है । ये विश्वास है कि उनको कहीं न कहीं .. कैसे भी ..इस बात का एहसास रहा होगा ..
आप सबों का आभार ... तकलीफ में मेरे साथी बने रहने का ..

18 comments:

DR.ANURAG ARYA said...

ईश्वर आपको संबल ओर हिम्मत दे ....श्र्दान्जली उन्हें...

काकेश said...

आप इस अपूरणीय क्षति से और मजबूत होकर निकलें यही कामना है.

Sanjeet Tripathi said...

इन हालात से गुजरा हूं तो शायद समझ सकता हूं!
ऐसे वक्त में अपने साथ ही खड़ा पाएंगी।
श्रद्धांजलि उन्हें!

संजय बेंगाणी said...

ये क्षण अत्यंत निर्मम होते है, एक सच्चाई से आँखें चुराना चाहते है, मगर वह अनावृत सामने खड़ी होती है. ईश्वर आपको व परिवार को शक्ति प्रदान करें. श्रद्धांजली.

Rachna Singh said...

बनो तुम वो जो वह तुमेह बनाना चाहते थे

करो हर काम वो जो वह तुमसे करवाना चाहते थे

तभी जिंदा रख सकोगी उनको

वरना जल्दी याद बन जायेगी याद उनकी

समय मुश्किल अभी आया कहा हैं

साया जो सिर पर था अब नहीं हैं

सो तैयार करो मन को अपने

बनो तुम वो जो वह तुमेह बनाना चाहते थे

अंकल को सादर नमन

दिनेशराय द्विवेदी said...

सभी के जीवन में आता है ऐसा समय। कम से कम इस बात में तो एक है इन्सान। समय ही सब घावों को भर देता है।

neelima sukhija arora said...

प्रत्यक्षाजी, ये जीवन का सचमुच बहुत कठिन समय है, पर हम सब आपके साथ हैं।

vimal verma said...

हम अपनों के बारे में कल्पना भी नहीं कर पाते कि वो हमे छोड़ भी सकते हैं...पर ये सच्चाई है कि हमें एक ना एक दिन जाना ही है...इस दु:ख की घड़ी में हम आपके साथ हैं...उन्हें हमारी श्रदधांजलि

नितिन बागला said...

हमारी संवेदनाएं आपके साथ हैं। ईश्वर आपको एवं आपके परिवार को संबल प्रदान करे।

mamta said...

प्रत्यक्षा जी भगवान आपको और आपके परिवार को इस दुःख को सहने की शक्ति प्रदान करे।

Udan Tashtari said...

हमेशा की तरह इस दुखद घड़ी में भी हम आपके साथ है. पिता जी को श्रद्धांजली.

Lavanyam - Antarman said...

प्रत्यक्षा,
आपके पापा की यादेँ
अब हमेशा,
आपको सँबल देतीँ रहेँगीँ.
मेरे परिवार की श्रध्धाँजलि भेज रही हूँ और तुम्हेँ ढेर सारा स्नेह,
- लावण्या

ALOK PURANIK said...

ALL THINGS SHALL PASS
-RIGVEDA

अरुण said...

ये जीवन है थोडी खुशिया थोडे गम है,
यही है यही है रंग रूप, ये जीवन है

Mired Mirage said...

आपके प्रति हमारा स्नेह व हमारा साथ सदा बना रहेगा।
घुघूती बासूती

मीत said...

उन का आशीर्वाद सदैव आप के साथ है. उन्हें श्रद्धांजलि. ये मुश्किल वक़्त भी गुज़र जायेगा ..... वक़्त के साथ.

अनूप भार्गव said...

life must go on ...

मीनाक्षी said...

हम भी पिता को खो चुके हैं और कह सकते हैं कि आँखें बन्द कीजिए तो आपको वे मुस्कुराते हुए आपके आसपास ही दिखाई दे जाएँगें. ईश्वर आपको शक्ति दे.